Weight कैसे बढ़ाये ? How to Gain Weight? – [Hindi] 2021

हेलो दोस्तों आप सबको मेरा प्यार भरा नमस्कार मै हु आपक दोस्त पियूष । और आज के इस आर्टिकल में मै आपको बताने वाला हु की आप अपना वजन यानि Weight केस बढ़ा सकते है

Advertisement

और साथ में मै आपको कुछ टिप्स भी बताऊंगा जिस से आप अपना Weight बढ़ा सकते है । इस लिए आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े ।

इंडिया में वेट के मामले में जो सबसे बड़ी प्रॉब्लम है वो मोटापे की है। यहां हर 10 में से पांच आदमी मोटापे या ओबेसिटी का शिकार हैं लेकिन उसके उल्टा कई लोग ऐसे भी हैं जो बहुत पतले हैं और कितना भी खा ले। मोटे होते ही नहीं। आज की इस आर्टिकल में हम उन्हीं लोगों के बारे में बात करेंगे तो बने रहे हमारे साथ अंत तक।

Advertisement
  • अंडरवेट होना क्या है ?

तो चलिए पहले जानते हैं कि अंडरवेट होना क्या है और किसी को अंडरवेट क्यों नहीं होना चाहिए। अंडरवेट होने का मतलब है कि आपका BMI नॉर्मल से कम होना BMI का मतलब होता है बॉडी मास इंडेक्स .

BMI किसी के वेट और हाइट से पता चलता है। इसका फॉर्मूला है BMI=kg/m किलोग्राम पर मीटर और स्क्वेयर BMI को इसलिए कैलकुलेट किया जाता है ताकि आप ये पता कर सके कि आप कितने हेल्दी हैं और इससे ये भी पता चलता है कि आपको कितना वेट कम करने की जरूरत है और कितना ज्यादा।

अब अगर आपका BMI 18.5 से कम है तो आप अंडरवेट कहलाएंगे लेकिन बीएमआई से ही सबकुछ नहीं होता। इसमें भी बहुत कमियां हैं। इसमें बस वेट और हाइट को देखा जाता है।

मसल्स को नहीं। कुछ लोग नैचरली बहुत पतले होते हैं लेकिन हेल्दी होते है। बीएमआई के हिसाब से अंडरवेट होने का मतलब हमेशा ये नहीं है कि आपके हेल्थ में कुछ दिक्कत है ।

  • लोग अंडरवेट होते क्यों हैं ?

तो चलिए अब जान लेते हैं। लोग अंडरवेट होते क्यों हैं। जो लोग अंडरवेट होते हैं और पतले होते हैं उन्हें अक्सर कुपोषित माना जाता है।

इनके अंडरवेट होने का बड़ा रीजन है शरीर में इनफ कैलरीज का न होना कैलरीज हमारी बॉडी में फ्यूल का काम करती है।

अगर आप अंडरवेट तो आपको कुछ हेल्थ ईशु हो सकते हैं जैसे ग्रोथ और डेवलपमेंट में देरी होना। ये बच्चों और टीनेजर्स में अक्सर देखा जाता है।

इनके बॉडी को हेल्दी रहने के लिए न्यूट्रिएंट्स की जरूरत होती है। नाजुक हड्डियां अगर आपका बॉडी वेट कम है और साथ ही विटामिन D और कैल्शियम की कमी भी है ।

तो इससे वीक बोन्स और ओस्टियोपोरोसिस की दिक्कत हो सकती है। आगे चलकर इम्यून सिस्टम वीकनेस।

अगर आप इनफ न्यूट्रिएंट्स नहीं लेते हैं तो आपकी बॉडी एनर्जी को स्टोर नहीं कर पाती है जिससे अगर कभी आपकी बॉडी में कोई वायरस या बैक्टीरिया घुस जाता है तो आपका इम्यून सिस्टम उससे फाइट नहीं कर पाता।

एनीमिया इससे आप सभी परिचित हैं। ये कंडीशन तब होती है जब विटमिंस आयरन और B12 आपकी बॉडी में कमी हो जाती है। इससे शरीर में खून की कमी चक्कर आना थकान और सिरदर्द जैसे दिक्कतें होती हैं।

फर्टीलिटी इशूज अगर आप विमन हो और आपको लो वेट की दिक्कत है तो इन रेगुलर पीरियड्स लैक ऑफ पीरियड्स और यहां तक कि इनफर्टिलिटी की समस्या भी हो सकती है।

हेयर लॉस लो बॉडी वेट वाले लोगों को हेयर लॉस और थिन हेयर की बहुत समस्या होती है। इससे तीर्थ और गेम्स भी बहुत वीक होते हैं। लेकिन कई सारे अंडरवेट लोग फिजिकली हेल्दी भी होते हैं। तो चलिए देखते हैं कि ऐसा क्यों होता है।

पहला रीजन है जेनेटिक्स। अगर आप बचपन से ही पतले हैं और आपके फैमिली में सभी हमेशा से पतले रहे हैं या आपकी फैमिली में सभी एक फिक्स इंच तक पतले रहे हैं और उसके बाद मोटे होते हैं तो पॉसिबल है कि आप भी उसी रीजन से पतले और कम वेट के हैं।

दूसरा रीजन है हाई फिजिकल एक्टिविटी। अगर आप एक एथलीट हैं तो आप ये अच्छे से जानते होंगे कि फ्रीक्वेंट वर्कआउट से आपके वेट पर क्या असर पड़ेगा।

इसी तरह जो दिन भर भागदौड़ का काम करते हैं या जिनका फील्ड वर्क से रिलेटेड काम होता है उनका वेट अक्सर कम ही होता है लेकिन वो अंदर से हेल्दी होते हैं।

तीसरा रीजन है इलनेस। अगर आप लगातार बीमार रहते हैं तो उसमें आपकी बॉडी पर असर पड़ता है।

आपको भूख कम लगती है और आपके बॉडी का इम्युन सिस्टम खराब हो जाता है। अगर आपके बिना एक्स्ट्रा एफर्ट के काफी वेट लॉस किया है तो ये किसी बीमारी की वजह से हो सकता है।

जैसे थायरॉयड प्रॉब्लम्स डायबिटीज डाइजेस्टिव डिसीज जिस यहां तक कि कैंसर अगर कुछ ऐसा है तो आप तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

चौथा बड़ा रीजन है मेडिसिन्स कुछ ऐसी दवाइयां और कुछ ऐसी ट्रीटमेंट्स होती है जिससे वेट कम होने लगता है जैसे कीमोथेरपी और आखिरी रीजन हैं।

साइकोलॉजिकल इश्योरेंस। हमारा स्टेट ऑफ माइंड हमेशा हमारे लाइफ और बॉडी को इफेक्ट करता है।

स्ट्रेस और डिप्रेशन हमारी ईटिंग हैबिट्स को इफेक्ट करती है। अगर आप किसी भी वजह से स्ट्रेस्ड या डिप्रेस्ड हैं तो डॉक्टर से बात करें

  • Weight Gain कैसे कर सकते हैं।

तो चलिए अब जानते हैं कि आप वेट गेन कैसे कर सकते हैं। जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि जैसे ज्यादा मोटा होना सही नहीं है वैसे ही अंडरवेट होना भी अच्छा नहीं है।

लेकिन क्या सिर्फ अंडरवेट लोग ही वेट गेन करना चाहते हैं नहीं। जो लोग क्लीनिकली अंडरवेट नहीं भी है उनमें से भी कई लोग वेट गेन करना चाहते हैं।

मसल के लिए कोई भी ऐसा शॉर्टकट नहीं है जिससे आप जल्दी वेट गेन कर सकें। अगर कोई चीज है जिससे आपका वजन जल्दी जल्दी बढ़ने लगे तो उसे इंग्लिश में बैड फैट का नाम दिया जाता है।

तो चलिए हम हेल्दी फैट के लिए देखते हैं कि हमें क्या क्या अपनी डायट में शामिल करना चाहिए।

1 . मिल्क ।

मिल्क से आपको कई तरह के फैट कार्बोहाइड्रेट्स और प्रोटीन्स मिलते हैं। ये एक बहुत बढ़िया सोर्स हैं। विटामिन्स और मिनरल्स का साथ ही इसमें कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में होता है।

इसमें जो प्रोटीन है उसकी वजह से ये एक अच्छी चॉइस है। उन लोगों की जो मसल्स बढ़ाना चाहते हैं।

एक स्टडी बताती है कि अगर आप वॉकआउट के बाद सोया प्रोडक्ट्स की जगह कोई मिल्क प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं तो आपको ज्यादा हेल्प करेगा मसल गेन में जो भी मसल गेन या वेट गेन करना चाहता है उसे अपने डाइट में मिल्क जरूर शामिल करना चाहिए।

2 . प्रोटीन शेक्स।

प्रोटीन शेक बहुत ईजिली और एफिशिएंट भी आपको वेट गेन करने में हेल्प करता है। प्रोटीन शेक तब और भी ज्यादा काम करता है जब आप उसे वर्कआउट के बाद लो।

लेकिन आपको पैक्ड प्रोटीन शेक नहीं लेना है क्योंकि उसके बहुत सारा शुगर होता है और प्रिजर्वेटिव्स डाला गया होता है जिससे आपका वेट गेन तो बढ़ता ही है लेकिन वो बैड फैट में भी काउंट होता है तो आपको ध्यान रखना है कि आप तो फ्रेश शेक पिएं।

3 . राइस।

1 कप चावल में 200 कैलरीज होती हैं और ये कार्बोहाइड्रेट्स का भी बहुत अच्छा सोर्स है जो कि वेट गेन करने में बहुत हेल्प करता है।

लेकिन राइस की भी बहुत सारी वेराइटी होती है। आपको अपनी डायट में ब्राउन राइस का इस्तेमाल करना है ना कि वाइट राइस का ।

4 . रेड मीट ।

रेड मीट मसल बनाने और वेट गेन करने में बहुत हेल्पफुल होता है। यूसेन और क्रिएटिनिन एक ऐसे न्यूट्रिएंट्स है जो मसल मास को बढ़ाने में मदद करते हैं और रेड मीट में ये दोनों चीजें पाई जाती हैं।

इनमें प्रोटीन और फैट भी भरपूर मात्रा में होता है जो वेट गेन को प्रोमोट करता है फिर भी लोगों को ये एडवाइस दी जाती है कि एक लिमिट के अंदर ही मीट का इस्तेमाल करें।

एक स्टडी में पाया गया है कि 60 से 90 साल की सौ महिलाओं की डायट में दुबले लाल मांस को जोड़ने से उन्हें वजन बढ़ाने और 18 पर्सेंट तक ताकत बढ़ाने में मदद मिली।

5 . नट्स एंड नट बटर ।

रेग्युलर नट्स खाने से अच्छे वेट गेन में बहुत हेल्प मिलती है। नट्स स्नैक्स के रूप में बहुत बढ़िया होते हैं और इन्हें किसी भी मील के साथ ऐड किया जा सकता है।

यहां तक कि इसे सलाद में भी ऐड कर सकते हैं। रो और ड्राई रोस्टेड नट्स बहुत ज्यादा हेल्दी होते हैं।

आप चाहे तो इनके बटर और आइल भी बनाकर यूज कर सकते हैं लेकिन इनमें सिर्फ एक इंग्रीडिएंट्स होना चाहिए और वो है नट्स। बाकी और कुछ नहीं।

6 . होल ग्रेन ब्रेड।

आजकल मार्केट में बहुत तरह के ब्रेड आ रहे हैं जिनमें से होल ग्रेन ब्रेड सबसे बढ़िया है। इसमें कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स होता है जो कि आपकी गुड फैट को इम्प्रूव करता है और कई सारे ब्रेड्स में अलग अलग तरह की सीड्स भी होते हैं जिससे इसमें और भी ज्यादा बेनिफिट्स ऐड हो जाते हैं।

7 . अदर फूड्स।

इन सबके अलावा और भी बहुत सारी चीजें हैं जो आप अपने डायट में शामिल कर सकते हैं जिससे आपका वजन बढ़े। जैसे पटेटो सोर्स ,कौन डार्क चॉकलेट , चीज ।

  • 1 महीने में कितना वजन बढ़ सकता है?

वहीं एक माह में करीब 10-12 किलो वजन बढ़ेगा। इसके साथ ही इससे शरीर में एनर्जी बढ़ती है।
  • वजन बढ़ाने के लिए कितनी रोटी खानी चाहिए?

यह ध्यान रखें कि रोटी के अलावा आप जिन सब्जियों और फलों का सेवन कर रहे हैं, उनमें भी कार्बोहाइड्रेट की मात्रा है। इसलिए आपकी कैलोरी इनटेक पर ही यह निर्भर करता है कि आपको एक दिन में कितनी रोटी खानी चाहिए। दिन भर में 4 रोटी खाना वजन घटाने के लिए बेहतर माना जाता है।
  • किशमिश से वजन कैसे बढ़ाएं?

अगर आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो एक छोटी सी किशमिश आपकी मदद कर सकती है। इसके लिए रात को सोते समय 10-12 किशमिश भिगोकर रख दें। सुबह इसे छानकर इसका पानी पी लें और किशमिश को चबाकर खाएं। वजन कम करना लोगों के लिए जितना मुश्किल होता है, कई बार वजन बढ़ाना भी उतना ही कठिन हो जाता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए सुबह खाली पेट क्या खाना चाहिए?

फल फाइबर से भरपूर होते हैं इसलिए इन्हें खाली पेट खाने से पेट पर अतिरिक्त भार पड़ सकता है ।इसके बजाय दिन की शुरूआत किशमिश या भीगे बादाम खाकर करनी चाहिए. सॉफ्ट ड्रिंक- सोडा या कोई भी सॉफ्ट ड्रिंक खाली पेट नहीं पीना चाहिए ।
  • वजन बढ़ाने के घरेलू तरीके ।

  1. आलू आलू को अपने नियमित डाइट में शामिल करें। …
  2. घी घी खाने से भी आपका वजन बढ़ेगा क्योंकि इसमें saturated fats और कैलारी की काफी अच्छी मात्रा होती है। …
  3. किशमिश रोजाना दिनभर में एक मुट्ठी किशमिश खाएं। …
  4. अंडा …
  5. केला …
  6. बादाम …
  7. Peanut butter. …
  8. पर्याप्त नींद
  • क्या खाने से शरीर का वजन बढ़ता है?

– ब्रेकफास्ट में दूध, मक्खन और घी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें. शरीर को हेल्दी रखने के साथ ही ये वजन बढ़ाने में मददगार होते हैं. – प्रोटीन एनर्जी का अच्छा स्रोत होता है. इसके लिए दाल, फिश, चिकन, मटन और अंडा खाना ठीक रहेगा ।
  • वजन बढ़ाने के लिए दूध कब पिए?

रोज सुबह नाश्ते के साथ बनाना-मिल्कशेक जरूर लें। महीने भर में परिणआम आपके सामने होंगे। रोज सोने से पहले या नाश्ते में गर्म दूध के साथ एक चम्मच शहद का सेवन करें। इससे वजन भी तेजी से बढ़ता है और पाचन भी अच्छी तरह होता है।
  • रोज कितना दूध पीना चाहिए?

– 18 साल से अधिक के वयस्क: इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 18 साल से ज्यादा उम्र के वयस्कों रोजाना 1 से 2 गिलास दूध पीना चाहिए, क्योंकि इस उम्र में उन्हें रोजाना 600 मिलीग्राम कैल्शियम की जरूरत होती है ।
  • कौन सा दूध पीना चाहिए?

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि गर्म और गुनगुना दूध जल्‍दी पच जाता है. इसलिए जिन लोगों की पाचन शक्ति अच्‍छी नहीं उन्‍हें गर्म दूध का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा गर्म या गुनगुना दूध रात को पीना चाहिए, इससे नींद अच्‍छी आती है ।
  • कच्चा दूध कब पीना चाहिए?

कच्चा दूध इसलिए नहीं पीना चाहिए क्योंकि इसमें खतरनाक बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। न्यूट्रल पीएच बैलेंस, भरपूर मात्रा में पानी और अन्य पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण कच्चे दूध में बैक्टीरिया अधिक पनपते हैं और लंबे समय तक जिंदा रहते हैं। यही वजह है कि कच्चा दूध जल्दी खराब भी हो जाता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए 1 दिन में कितनी कैलोरी लेनी चाहिए?

एक रिपोर्ट के मुताबिक वजन बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक पोषक तत्वों और कैलोरीज का सेवन करना चाहिए। अगर आप नियमित रूप से 2500 कैलोरी खर्च करते हैं और आप रोज 500 कैलोरी अधिक लेते हैं तो इससे एक सप्‍ताह में 1 पाउंड वजन बढ़ेगा।
  • मोटे होने के लिए दिन में कितनी बार खाना खाना चाहिए?

शरीर में एनर्जी बनी रहती है. अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो दिन में तीन बार हेवी खाने के बजाए गेप करके थोड़ा-थोड़ा खाएं. खाना खाने का यह तरीका सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है. क्योंकि इस तरह खाने से शरीर में मेटाबॉलिज्म स्थिर रहता है ।
  • वीडियो देखना न भूले

तो हमें उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकरी पसंद आई होगी की आप अपना कैसे बढ़ा सकते है । और आपको क्या क्या करना है ।

और आपके मनमे कोई भी सवाल हो तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी बता सकते है । और हमें लिख भेजिए की आगे आप क्या और किसके बारे में जानकारी लेना चाहते है । धन्यवाद ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *