Stock Broker क्या है ? और Stock Broker कैसे बने ? पूरी जानकारी हिंदी में

हेलो स्वागत है आप सबका और मै हु आपका दोस्त पियूष और आज हम आपको बताने वाले है की Stock Broker क्या है ?और Stock Broker कैसे बने ? इसके बारे में पूरी जानकारी देने वाले है ।

Advertisement

तो आप इस लेख पूरा जरूर पढे ।

स्टॉक ब्रोकर

शेयर मार्केट ,स्टॉक एक्सचेंज ,Stock Broker ,सेंसेक्स ,निफ्टी ये सारे टर्म्स आपने जरूर सुनी होगी। कम टाइम में इन्वेस्टमेंट करके अच्छे पैसे कमाने की चाहत रखने वाले लोग अब से स्टॉक एक्सचेंज में पैसे निवेश करते हैं।

आम भाषा में जिसे शेयर मार्किट कहती हैं एक इन्वेस्टर और शेयर मार्केट के बीच जो व्यक्ति मीडिएटर के तौर पर काम करता है उसको स्टॉक ब्रोकर कहते हैं। आज का स्टडी आपको बताएगा कि कैसे आप एक स्टॉक ब्रोकर बन सकती हैं तो देखी।

Advertisement
  • स्टॉक ब्रोकर होता क्या है और इनका काम क्या होता है।

सबसे पहले जान लीजिए कि स्टॉक ब्रोकर होता क्या है और इनका काम क्या होता है। ब्रोकर के बिना शेयर मार्केट का बिजनेस अधूरा है। स्टॉक एक्सचेंज और इन्वेस्टर के बीच स्टॉक ब्रोकर एक कड़ी का काम करता है।

बिना ब्रोकर के कोई इन्वेस्टर या निवेशक अब न ट्रेन या सौदा शेयर मार्केट में नहीं डाल सकता है। अगर आप शेयर मार्केट में कदम रखना चाहते हैं तो आपको एक डीमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है और ये दोनों एकाउंट को एक स्टॉक ब्रोकर ही खोल सकता है।

किसी भी इन्वेस्टर के बाय या सेल के ओनर को स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंचाने का काम स्टॉक ब्रोकर का ही होता है। जनरली शेयर मार्केट में दो तरह के स्टॉक ब्रोकर काम करती हैं। ये हैं फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर और डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में ।

  • फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर ।

फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की फीस ज्यादा होती है। इसकी वजह है कि फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर अपने क्लाइंट को ढेर सारी सर्विस देती हैं। जैसे स्टॉक एडवाइजरी यानी कौन सा शेयर कब खरीदें और कब बेचें स्टॉक खरीदने की मार्जिन मनी की सुविधा मोबाइल फोन पेड ट्रेडिंग फसिलिटी IPO में इन्वेस्ट की सुविधा।

इसके अलावा भी टाइम स्टॉक ब्रोकर की कस्टमर सर्विस काफी अच्छी मानी जाती है। इन सब ब्रोकर या ब्रांच कई शहरों में होती है कुछ पॉपुलर सर्विस स्टॉक ब्रोकर है। ICICI डायरेक्ट ,शेर खान ,HPL ,HDFC सिक्योरिटीज आदि।

  • डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर । 

डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर अपने क्लाइंट से काफी कम ब्रोकरेज लेकर शेयर को खरीदने और बेचने की फैसिलिटी देते हैं। डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर इसीलिए कम फीस लेते हैं क्योंकि वे अपने क्लाइंट को स्टॉक एडवाइजरी और रिसर्च फैसिलिटी नहीं देते।

उनकी ऑफिस भी कुछ बड़े शहरों में ही होती है। अकाउंट ओपन करने के साथ साथ इनका ज्यादा काम ऑनलाइन ही होता है इसलिए इनकी फीस भी बहुत कम होती है। भारत में कुछ पॉपुलर डिस्काउंट ब्रोकर हैं। जारोधा , साऊथ एशियाई स्टॉक लिमिटेड , मास्टर कैपिटल सर्विसेज लिमिटेड वगैरह ।

  • स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपको क्या पढ़ना होगा।

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आप फाइनेंशियल मार्केट का कोई कोर्स कर सकती हैं। कॉमर्स ,अकाउंटेंसी ,इकोनॉमिक्स ,स्टैटिस्टिक्स या बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की नॉलेज भी आपको हेल्प करेगी।

इन सब्जेक्ट्स में ग्रैजुएशन या पोस्ट ग्रैजुएशन की डिग्री ली जा सकती है। नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का कोर्स एक और ऑनलाइन सर्टिफिकेशन प्रोग्राम है जो ये चेक करता है। इस टॉप मार्केट प्रफेशनल में फाइनेंशल मार्केट के लिए जरूरी प्रैक्टिकल नॉलेज और स्किल्स हैं या नहीं इस कोर्स में एडमिशन लेने वाले के पास मैथ्स और इंग्लिश की अच्छी स्किल होनी चाहिए।

नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फाइनेंशियल मैनेजमेंट और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड मिलकर पोस्ट ग्रैजुएट एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम इन फाइनेंशियल मार्केट्स करने का मौका देती है।

इस प्रोग्राम के लिए 50 प्रतिशत मार्क्स के साथ ग्रैजुएशन की डिग्री चाहिए। बीएसई इंस्टिट्यूट लिमिटेड भी आनलाइन सर्टिफिकेशन प्रोग्राम देता है। ये स्टॉक एक्सचेंज ऑपरेशंस की डीटेल नॉलेज देता है।

  • स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आपके पास क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए।

स्टॉक ब्रोकिंग एक फाइनेंशल रिस्क भरा फील्ड है इसलिए यहां काम करने के लिए अकैडमिक क्वालिफिकेशन के साथ साथ अच्छी एनालिटिकल स्किल अलर्टनेस बुद्धि और रिसर्च स्किल्स होनी जरूरी है।

आपके पास स्टॉक ट्रेडिंग काउंटर्स रूस और इंफोसिस की अच्छी जानकारी भी होनी चाहिए। अलग अलग सेक्टर्स और इंडस्ट्रीज के बारे में जागरूकता भी आपको इस फील्ड में आगे कर देगी। मार्केट में क्या कुछ नया है।

कितनी उतार चढ़ाव आ रहा है इन सबके बारे में लेटेस्ट अपडेट भी रखना पड़ेगा। अगर आप इस फील्ड में एक्सपर्ट बनना चाहते हैं तो अच्छी कंप्यूटर स्किल्स के साथ साथ। डिसिजन मेकिंग टीम वर्क रिसर्च इंस्टीटय़ूट और फाइनेंस इंडस्ट्री की जानकारी आपको सक्सेसफुल बना सकती है। इस फील्ड में लोग वर्किंग आवर्स होते हैं और प्रेशर हैंडलिंग भी आनी चाहिए। इसलिए पेशेंस रखना जरूरी है ।

  • स्टॉक ब्रोकर के लिए कहां जॉब अपॉर्चुनिटी मिल सकती है।

एजुकेशन ,एक्सपर्टाइज और एक्स्पीरियंस को बेस करते हुए आप इक्विटी डीलर ,इक्विटी ट्रेडिंग इक्विटी एडवाइजर ,स्टॉक एडवाइजर ,वेल्थ मैनेजर ,फाइनेंशल एनालिस्ट ,इनवेस्टमेंट एडवाइजर सिक्योरिटीज एनालिस्ट और रिस्क मैनेजर के तौर पे नौकरी भी पा सकते हैं।

इस फील्ड में काम के मौके आपको स्टॉक एक्सचेंज रेगुलेशन अथॉरिटीज और इन्वेस्टमेंट होम्स इन्वेस्टमेंट कंसल्टेंसी म्यूचुअल फंड वाली कंपनियों रोल पंप्स इंश्योरेंस एजेंसियों बैंकों और दूसरी फाइनैंशल इंस्टिट्यूट में मिलते हैं।

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आप एक सब ब्रोकर के तौर पर शुरुआत कर सकते हैं। सब ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज का ट्रेडिंग मेंबर नहीं होता है लेकिन वह ग्राहकों को सेवाएं देने में स्टॉक ब्रोकर की हेल्प करता है। सब कुछ बनने के लिए आपके पास पैन कार्ड आधार कार्ड और एजुकेशन सर्टिफिकेट्स होनी चाहिए

इसके अलावा आपके घर और आपके आफिस के पते का प्रूफ और CA का रेफरेंस लेटर भी चाहिए। ये बहुत जरूरी है कि आप बुद्धिमानी से ब्रोकरेज फर्म चुनें। आपको कभी भी ऐसा कुछ नहीं बेचना चाहिए जिसे कोई खरीदने को राजी न हो।

इस वजह से ब्रोकरेज फर्मों के बारे में अच्छे से रिसर्च करें। आपको पता होना चाहिए कि इनवेस्टर्स किसे पसंद कर रहे हैं। आपके ब्रोकर के पास अच्छे ब्रांड इक्विटी और रिकॉल वैल्यू होनी चाहिए जिससे नए कस्टमर्स हासिल करने में आसानी होगी।

आम तौर पर इनवेस्टर्स उन फार्मों को प्रायरिटी देते हैं जिनके पास फ्लैट फीस स्ट्रक्चर वैल्यू ऐडेड सर्विसेस होती हैं और जो स्पॉट और सिफारिशें भी देती है। सब ब्रोकर बनने की कुछ शर्तें होती हैं जिन्हें आपको पूरा करना होगा।

एक सब लोग कर या मास्टर फ्रेंचाइजी मालिक के रूप में आपको लगभग 200 स्क्वेयर फुट के ऑफिस स्पेस की जरूरत होगी। ये स्पेस आम तौर पर ब्रोकरेज फर्म पर डिपेंड करता है जिसके साथ आप जा रहे हैं। आपको लगभग 1 से 2 लाख या उससे ज्यादा का रिफंडेबल फीस जमा करना होगा।

साथ ही अपने ब्रोकर का कमीशन स्ट्रक्चर भी चेक कर लीजिएगा। शुरुआत में आपने जिस ब्रोकिंग फर्म को चुना है वहां से कॉल बैक का रिक्वेस्ट डाले फोन पर ही आप के बारे में पढ़ाई लिखाई के बारे में और पहले के कामकाज के बारे में जानकारी ली जाएगी।

इसके साथ कुछ बेसिक सवाल भी पूछे जाएंगे। सबसे लास्ट में आपको रजिस्ट्रेशन भी देना होगा। पेमेंट के बाद आपको अपने खाते का बिजनेस स्टाइल मिलेगा। आपके ब्रोकर के आधार पर आप और आपकी कर्मचारी ट्रेडिंग प्लैटफॉर्म कस्टमर सपोर्ट और मार्केटिंग मैकेनिज्म पर ट्रेनिंग और जानकारी प्राप्त करेंगे। इसके बाद आप अपना काम शरू कर सकते है ।

जब काम शरू हो जायेगा तो जाहिर है कमाई भी शरू हो जाएगी । एक स्टॉक ब्रोकर या सब ब्रोकर के तौर पे आपको सेबी ( SEBI) रजिस्टेशन करवाना पड़ता है ।  रजिस्टेशन के लिए आप को पर्सनल डिटेल्स के साथ पेन कार्ड और शेयर मार्किट के किस फिल्ड में काम करेंगे उसकी डिटेल्स भी देनी पड़ती है ।

यह भी पढ़े ।

  • स्टॉक ब्रोकर क्या करता है?

एक स्टॉकब्रोकर एक पेशेवर व्यापारी है जो ग्राहकों की ओर से शेयर खरीदता और बेचता है। स्टॉकब्रोकर को एक पंजीकृत प्रतिनिधि या एक निवेश सलाहकार के रूप में भी जाना जा सकता है। अधिकांश स्टॉक ब्रोकर ब्रोकरेज फर्म के लिए काम करते हैं और कई व्यक्तिगत और संस्थागत ग्राहकों के लिए लेनदेन संभालते हैं।

  • वीडियो देखना न भूले । 

तो दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकरी पसंद आई होगी और आप समज गए होंगे की Stock Broker क्या है ? और Stock Broker कैसे बने ?  धन्यवाद ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *