होटल कैसे शरू करे ?|Hotel sharu karne ke tarike |How to Start a Own Hotel In Hindi

दोस्तों दुनिये में कई सरे बिजनेस ऑप्सशन है । लेकिन हम आज के इस लेख में आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताने वाले है । जिसे बना के आप अपना करिअर बना सकते है ।

दोस्तों वो यह है की आप अपना  होटल कैसे शरू करे ? How to Start a Own Hotel In हिंदी तो इस लेख की टिप्स को फॉलो करके आप अपना खुद का बिजनेस शरू कर सकते है ।

एक सक्सेसफुल एंटरप्रिन्योर हमेशा अपने अगले सक्सेस की तलाश में रहता है। जब भी किसी अच्छे बिजनेस का मौका आता है तो पूरी प्लानिंग के साथ वो उसपर काम करता है।

उस मौके को जाने नहीं देता। अगर हम होटल बिजनेस की बात करें तो एक होटल खोलना सिर्फ एक बिल्डिंग खड़ी करना।
उसमें कई सारे कमरे बनवाना और लोगों को चेकइन करने के लिए चार्ज करना नहीं है। ये उससे बहुत ज्यादा है। आज वर्ल्ड ट्रैवल इंडस्ट्री दिन दुगनी और रात चौगुनी वृद्धि कर रहा है।

ऐसे में होटेल एक ऐसी जगह होनी चाहिए जहां ट्रैवलर जब अपने कमरे में चेकइन करें तो आरामदायक महसूस करें। बेस्ट होटेल अपने गेस्ट्स पर फोकस करता है।

एक होटल बिजनेस मैन के रूप में आपकी रेपुटेशन आपके होटल के गेस्ट के सेटिस्फेक्शन पर निर्भर करती है।

आज तो आनलाइन रिव्यू के युग में कोई भी व्यक्ति किसी भी होटल के बारे में सकारात्मक और नकारात्मक कुछ भी कहने के लिए आनलाइन जा सकता है।

ऐसे में आपके होटल का रिव्यू अच्छा होना चाहिए तभी आप इस बिजनेस में टिक पाएंगे। आज किस लेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप एक होटेल बिजनेस शुरू कर सकते हैं .

और इसमें सक्सेस पाने के लिए आपको किन किन बातों का ध्यान रखना होगा तो बनी रही। दोस्तो हमारे साथ अंत तक लेख शुरू करने से पहले हम स्वागत करते है । तो चलिए जानते हैं कि एक नया होटल खोलने के लिए क्या करना चाहिए

1 .  Make a Plan (एक प्लान तैयार करें।)

हर नया बिजनेस एक प्लान से शुरू होता है। चाहे बिजनेस छोटा हो या बड़ा सभी के लिए शुरुआत में एक प्लान की जरूरत होती है।

किसी भी बिजनेस को शुरू करने पहले आपको इस चीज का अंदाजा लगा लेना चाहिए कि आप किस तरह के मार्केट में एंटर कर रहे हैं और आगे आपको किन किन जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है।

अगर आप किसी होटल में कैसे काम होता है । जैसी चीजों से पहले ही परिचित नहीं हैं तो जितना संभव हो उतना हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के बारे में सीखने के लिए गहराई से पढ़ें और नॉलेज इकट्ठा करें।

एक होटल को सफल बनाने के लिए कौन कौन से चीजें काम में आती हैं । और किन किन कारणों से एक होटल बिजनेस डूब जाता है इन सब का पता लगाएं।

हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के बारे में जानने और उसकी लेटेस्ट न्यूज से अपडेट रहें। आपको पता होना चाहिए कि आपके होटेल में किस प्रकार के लोग रहेंगे और आप उन्हें अपने होटल में अट्रेक्ट करने के लिए क्या कर सकते हैं।

सोचें कि आप अपने बिजनेस के लिए क्लाइंट्स कैसे इकट्ठा कर सकते हैं। एक सही मार्केटिंग प्लान लोगों को आपके होटल के कमरे बुक करने के लिए प्रेरित कर सकता है।

2 .  Select hotel Type (होटेल के टाइप)

कुछ ने कई प्रकार के होटेल होते हैं। आप होटेल के किस स्टाइल में इन्वेस्ट करना चाहते हैं आपको इसपर विचार करना होगा। बुटीक होटेल्स छोटे होते हैं।

ये अक्सर किसी एतिहासिक इमारत में हो सकते हैं या किसी दूसरे बिजनेस से कन्वर्ट करके बनाए जाते हैं।

फेमिली होटेल्स इस बात पर केन्द्रित होते हैं कि उन्हें पूरे परिवार के लिए किस तरह से फैमिली बनाएं जाए।

इन होटलों में आमतौर पर बड़े कमरे ज्यादा बिस्तर और स्विमिंग पूल होते हैं और ऐसे होटल्स की लोकेशन अक्सर पार्क जैसी जगह के आसपास होते हैं ताकि ज्यादा फैमिली अट्रैक्ट हो।

बजट होटलों में कमरों के रेट कम होते हैं लेकिन इसके साथ ही उस होटेल की फैसिलिटीज भी लिमिटेड होती हैं।

बजट होटलों को बनाने में भी कम खर्च की जाती है जिस कारण उसमें शोर बहुत रहता है। अक्सर एक कमरे की आवाज दूसरे कमरे में सुनाई देती है।

बजट होटेल आमतौर पर उन गेस्ट के लिए बनाए जाते हैं जो ज्यादा महंगे होटेल में नहीं रुक सकते।

हालांकि आजकल बजट होटेल में भी फैसिलिटीज सुधारी जा रही हैं। इन सबके अलावा लग्जरी होटल भी होते हैं जो अक्सर फूल टू फाइव स्टार रेटेड होते हैं जो अक्सर महंगे ही होते हैं।

हालांकि इतने महंगे होने के बदले में उन्हें ज्यादा सुविधाएं और सेवाएं दी जाती हैं । जिससे गेस्ट सेटसफाय होते हैं।

लग्जरी होटेल में आमतौर पर रूम सर्विस स्पाइस एक दरबान जैसी सुविधाएं मिलती हैं । तो आप किस तरह का होटेल डिजाइन करने की सोचते हैं ये आपके पूरे बिजनेस पर इफेक्ट डालता है।

एक बार आपने किसी एक टाइप का होटेल बना लिया तो उसके बाद दूसरे टाइप की होटल में उसे कन्वर्ट करना बहुत मुश्किल है इसलिए आप होटेल डिजाइन करने से पहले खूब रिसर्च करें और फिर निर्णय लें।

3 . Decide buy/build a Hotel

डिसाइड करें कि आप होटेल खरीदना चाहते हैं या बनाना चाहते हैं। एक होटेल को शुरू करने से बनाने का फायदा ये है कि आप अपनी इच्छा के अनुसार उसमें चीजें जुड़वा सकते हैं ।

जो आप अपने होटेल में देखना चाहते हैं जिससे आपको लगता है कि लोग अट्रैक्ट होंगे। हालांकि एक होटेल को बनवाने की लागत बहुत ज्यादा बढ़ जाती है और इस लोकेशन पर डिपेंड करता है।

और अगर आप कुछ पैसे बचाने की चाहत रखते हैं तो बना बना होटेल खरीदना एक दूसरा ऑप्शन है।

ये भी पूरी तरह लोकेशन पर निर्भर करता है कि एक बना बनाया होटेल आपको कितने पैसे में मिलेगा।

4 . Hotel Permit Licenses 

होटेल परमिट और लाइसेंस बनवाएं अपना होटेल जहां खोलने का सोचा है वहां के लोकल गवर्मेंट से आपको कई तरह के लाइसेंस अपॉइंटमेंट लेने होंगे।

लाइसेंस प्राप्त करने की लागत आपके बिजनेस के साइज पर निर्भर करती है। अगर आपने लोकेशन डिसाइड कर ली है ।

और आपकी बाकी सारी तैयारियां हो गई हैं तो परमिट के लिए जल्द आवेदन करना उचित है क्योंकि उन्हें अप्रूव होने में काफी समय लग जाता है।

5 . Funding (फंडिंग)

ज्यादातर लोग होटेल के सपने को धन की कमी के कारण पूरा नहीं कर पाते और जब आप एक होटेल बिजनेस करने की सोचते हैं तो फंडिंग सबसे इम्पोर्टेन्ट चीजों में से एक है।

सबसे पहले अपने होटेल। बनाएं और कैलकुलेट करें कि कितना बजट लगेगा अपने मन का होटल खोलने में।

जवाब क्लियर होगा कि आपको कितने रुपए की कुल जरूरत है तो आप तीन तरीकों से इस पूंजी का इंतजाम कर सकते हैं ताकि अपना होटल खोल सकें बजट है ।

1 . सेल्फ फंडिंग।

अगर आपके पास बैंक में पर्याप्त पैसा है तो बधाई हो। आपने होटल खोलने की पहली बाधा पार कर ली।

साझेदारी में होटल खोलना भी एक अच्छा विचार है क्योंकि निवेश के जोखिमों को कम कर सकता है।

कोशिश करें कि आपके पास अपना पैसा ज्यादा होता कि इंट्रेस्ट पर कम से कम रुपए लेने पड़े और सारा प्रॉफिट आपका अपना हो।

अगर आपके पास कुछ रुपए कम है तो सेकंड ऑप्शन के रूप में आप लोन ले सकते हैं और आप चाहें तो फंड भी इकट्ठा कर सकते हैं।

अपने जानने वालों से लेकिन इन दोनों ही तरीकों में सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि आपको इंटरेस्ट देना होगा या फिर एक फिक्स टाइम पर सारे रुपए उनके प्रॉफिट के साथ लौटाने होंगे।

6 .  Staff Hire/Train (स्टाफ को हायर और ट्रेन करें।)

आप अपने बिजनेस को अकेले नहीं चला सकते। उसके लिए आपको स्टाफ की जरूरत होगी। होटल चलाने के लिए कई तरह के स्टाफ की जरूरत होती है।

फर्स्ट स्टेज पर काम करने के लिए कमरों की सफाई पार्किंग मेन अगर होटल में ही आपने रेस्टोरेंट की भी फैसिलिटी रखी है तो उसके लिए अलग से कुक ,शेफ , कैशियर।

इसके अलावा भी कई तरह के स्टाफ की जरूरत पड़ती है। एक होटल को चलाने के लिए

7 .  Marketing plane for the Hotel (होटेल का मार्केटिंग प्लान बनाएं।)

एक बार आपके पास सबकुछ सेट हो जाने के बाद आपको अपने होटल बिजनेस के लिए एक मार्केटिंग प्लान बनाना होगा जो कि आपके बिजनेस को बढ़ाने का काम करेगा।

अपने प्रॉफिट का एक हिस्सा आपको मार्केटिंग पर लगाना होगा क्योंकि बिना मार्केटिंग और पब्लिसिटी के आपकी बिजनेस से ज्यादा ग्रोथ नहीं है क्योंकि बिना इसके आपका होटेल ज्यादा लोगों की नजरों में नहीं आ पाएगा।

तो लोग इंटरेस्ट कैसे दिखाएंगे। मार्केटिंग के लिए आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर सकते हैं जहां बहुत कम खर्च में आप ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सकते हैं।

अपने होटेल की सर्विस अच्छी रखें ताकि लोग उसे अच्छी रेटिंग दें। आप अपने होटेल को हर आनलाइन प्लेटफॉर्म पर लेकर आना है क्योंकि आज आनलाइन बुकिंग का जमाना है ।

और अपने हर गेस्ट से आपके होटेल को रेटिंग देने के लिए अनुरोध करें ताकि लोग उन रेटिंग्स और रिव्यू के आधार पर होटेल बुकिंग कर सकते हैं।

  •  एक सक्सेसफुल होटल खोलने के लिए किन किन चीजों पर ध्यान देना होता है । 

1 . Location (लोकेशन।)

लोग हमेशा अपनी सहूलियत के हिसाब से होटेल ढूंढते हैं। ज्यादातर टूरिस्ट एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन या टूअर प्लेस के आसपास होटेल ढूंढते हैं।

आपको अपना होटेल शुरू करने से पहले लोकेशन का अच्छा ध्यान रखना होगा ।

2 . Facility  (सुविधाएं)

आपके होटेल में कौन सी सुविधाएं गेस्ट को ऑफर की जाएंगी या आपके होटेल बिजनेस की सफलता में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है।

होटेल में अपने बजट के हिसाब से आप सुविधाओं का इंतजाम कर सकते हैं जैसे पिकअप और ड्रॉप फैसिलिटी रेस्ट्रॉन्ट पूल वर्कप्लेस डॉग फ्रेंडली रूम्स वाइन टेस्टिंग आज डिसमिस रिलेटिड फैसिलिटीज।

इससे न सिर्फ आपकी गेस्ट खुश होंगे और अच्छी रेटिंग देंगे बल्कि इससे मार्केटिंग टीमों को अपने होटल को प्रमोट करने के लिए ज्यादा चीजें मिल जाएंगी जिन्हें वो एडवर्टाइजमेंट में प्रेजेंट कर सकते हैं।

3 .  Cleanliness (क्लीनर्स)

ज्यादातर इंटनेट पर जिन होटल की रेटिंग्स खराब होती हैं उनकी वजह से साफ सफाई और हाईजीन की कमी होती है।

कस्टमर्स अपने रिव्यू में इन दिक्कतों को लिखते हैं। इसलिए आपको अपने होटेल की हाइजीन का विशेष ख्याल रखना होता है।

होटेल के रूम्स बाथरूम और कॉरिडोर को साफ रखें ताकि आपके रिव्यू में ये चीज ऐड हो सके।

4 . Friendliness 

आपके होटेल की छोटी छोटी चीजें भी गेस्ट को पसंद आ सकती हैं जिसकी वजह से वो दोबारा आपके होटल में रुकने की सोचते हैं या अच्छे रिव्यू देते हैं ।

और अपने फ्रेंड्स और फैमिली को भी आपका ही होटेल रिकमेंड करते हैं। आपको याद रहना चाहिए कि आप गेस्ट छुट्टी मनाने के इरादे से ही अब बिजनेस के काम से यहां आए हैं ।

तो उनको घर जैसी फीलिंग भी होनी चाहिए। इन्ही छोटी छोटी अच्छी चीजों में फ्रेंडली एन्वारमेंट भी शामिल है।

आप अपने स्टाफ को इस तरह से ट्रेंड करना होगा कि वो होटेल में आने वाली सभी गेस्ट के साथ फ्रेंडली बिहेव करें ।

5 .  सेफ्टी 

अच्छी लोकेशन की तरह ही गेस्ट हमेशा इस होटेल बुक करने से पहले इस बात का भी ध्यान रखता है कि जिस एरिया में होटेल बुक कर रहे हैं वो एरिया सेफ्टी के हिसाब से कितना अच्छा है।

आसपास होने वाला शोर ,पुलिस के सायरन की आवाज आपके गेस्ट को सेफ्टी के हिसाब से चिंतित कर सकती हैं ।

दोस्तों तो हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख बहुत पसंद आया होगा। हम पूरी कोशिश करेंगे कि आपको एक लेख में पूरी जानकारी दे सकें।

अगर आपके इस लेख से संबंधित कुछ सवाल हैं जो आप हमसे पूछना चाहते हैं तो हमें कॉमेंट में जरूर बताएं। हम आपके सभी सवालों के जवाब देंगे

तो मिलते हैं नए लेख में नई जानकारी के साथ । धन्यवाद ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *