खिल , मुँहासे को कैसे रोकें? || How to Prevent Acne? हिंदी में tips

नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है | मई हु आप सबका दोस्त पियूष और आज मै आपको मुँहासे को कैसे रोकें? इस के बारे में बताने वाला हु | अगर आपकी भी यही परेशानी है तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढे |        

Advertisement
मुँहासे को कैसे रोकें?

खिल , मुंहासे , पिम्पल्स एक्ने या जो भी कहें ये यंग डाल टीनएजर्स के बहुत ही कॉमन प्रॉब्लम होती है लेकिन साइड में जहां लुक्स पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाता है उस एज में एक्ने और उसकी वजह से होने वाले पिम्पल्स टीनेजर्स की रातों की नींद उड़ा देते हैं और उन्हें सोते जागते बस यही खयाल आता है कि हे भगवान मेरे साथ क्यों हो रहा है।

ऐसे में आपकी बॉडी से दिखने वाली छोटी सी प्रॉब्लम को दूर करने के लिए लेख बनाया है ताकि इस तरह के इश्यूज से ईजिली डील कर पाएं और अपना सारा फोकस करियर ओरियंटेड स्टडीज पर लगा सके। इसीलिए इस लेख को भी जरूर देखें।

तो चलिए शुरू करते हैं और आपको अपसेट करने वाली एक्ने की प्रॉब्लम को समझकर इसका सॉल्यूशन निकालते हैं। एक्ने मुंहासे ऐसी स्किन कंडीशन होती है जो फॉलिकल के ओयल और डेड स्किन सेल्स के मिलने से बनती हैं। ये कंडीशन स्किन के हेयर फॉलिकल और ग्लैंड्स को अफेक्ट करती हैं।

Advertisement

हमारी स्किन के अंदर पोर्स होते हैं यानी कि छोटे छोटे छेद जो ऐसी ग्लैंड्स से कनेक्ट रहते हैं जो ऑयली सब्सटेंस यानि कि सीबम बनाती है। ये ग्लैंड्स पोस्ट कैनाल के जरिए फॉलिकल से जुड़े रहते हैं जिसमें पतले बाल होते हैं जो स्किन पर ग्रो करती हैं जो किसी रीजन से सीबम और डेड स्किन सेल्स आपस में मिल जाती हैं तो ये फॉलिकल में एक ब्लॉक को कम कर देती हैं जिसमें बैक्टीरिया जलन पैदा करता है और फिर रेड पिम्पल्स के रूप में आदमी से सामना हो जाता है।

के साथ पिंपल्स का नाम भी आता है लेकिन ये दोनों सेम नहीं होते हैं। असल में एक डिजीज है जबकि पिम्पल्स उसका एक सिस्टम है। एक्ने क्या है और पिम्पल है ये जानना जरूरी है क्योंकि प्रॉब्लम सॉल्व करने से पहले ये पता होना चाहिए कि प्रॉब्लम कैसे जेनरेट हुई तो वाकई जानते हैं कि एक्ने होने का रीजन क्या होता है।

क्योंकि हर किसी को तो एक्ने और पिंपल्स की प्रॉब्लम नहीं होती है। आइए जानते हैं एक्ने का एक फ़ैक्टर रीजन तो अभी तक पता नहीं चला है लेकिन इन सभी चीजों से एक्ने होने के चांसेज काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं।

हॉर्मोनल चेंजेस पिंपल्स को बार बार हाथ लगाना स्किन को बहुत ज़ोर ज़ोर से स्क्रब यकीन करना कॉस्मेटिक्स का ज्यादा इस्तेमाल करना और गाड़ी स्टेरॉयड और नाबालिग स्टेरॉयड जैसी मेडिकेशन में रहना तो ये एक्ने ब्लैक हेड्स व्हाइट हेड्स नॉटी सॉफ्ट की पांव में दिखाई देते हैं।

अब बहुत से एक्सपर्ट्स ये मानते हैं कि डॉक्टर्स के काटने का रीजन नहीं होती है और ज्यादातर लोगों में ग्रीन बोर्ड और चॉकलेट खाने से भी एक्ने नहीं होता है। ऐसे में अपने का रीजन जानने के लिए आपको डॉक्टर से कंसल्ट करना होगा लेकिन अगर अपनी प्रॉब्लम बहुत ज्यादा नहीं बढ़ा हो तो एक्ने से प्रिवेंशन के लिए आप बहुत से सिंपल एयरपोर्ट्स कर सकते हैं तो आइये इनके बारे में जानते हैं।

पहले से आपको फेस को तीन रखना है भले आदमी होने का मेन रीजन डौंडी स्किन को नहीं बताया गया है लेकिन फेस को क्लीन रखकर आप एक्ने की पॉसिबिलिटी को काफी हद तक कम कर सकती हैं और आपकी त्वचा से जुड़ी दूसरी प्रॉब्लम से भी बच सकते हैं इसलिए दिन में कम से कम दो बार वेसलीन जरूर करें और फेस पर माइल्ड फेशियल क्लींजर ही यूज कीजिए।

अपनी स्किन को जोर जोर से रगड़ कर साफ करने की आदत भी आपको छोड़नी होगी और मोटी टॉवेल की बजाय क्लीन टॉवल का ही यूज करने की आदत को आप बनाए रखें। दूसरा है फेस को मॉइश्चराइज रखिये। अगर आप स्किन को ड्राय रखेंगे तो ये भी प्रॉब्लम ही क्रिएट करेगा क्योंकि ऐसे में भी एक्ने आपकी स्किन पर जगह बना सकता है इसलिए स्किन को मॉइश्चर करते रहना जरूरी होता है और अपनी स्किन के अकॉर्डिंग ही आप इसका यूज करें।

यानी आपकी त्वचा के अकॉर्डिंग अगर आपकी स्किन ड्राय है और ऑयली है या कॉम्बिनेशन स्किन है तो उसके लिए आप उसी कैटेगरी का मॉइश्चराइजर खरीदें और अप्लाई करें। साथ ही एक्ने प्रोडक्ट्स को सोच समझकर ही चुनिए। एक्ने की प्रॉब्लम अगर ज्यादा नहीं बढ़ी है तो आपको डॉक्टर से कंसल्ट करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

ऐसे में कई बार ऐसे प्रोडक्ट्स खरीद लिए जाते हैं जिनमें बेंजवाल पैरा ऑक्साइड सैलिसिलिक एसिड ग्लाइड कॉलीग एसिड और लैक्टिक एसिड होते हैं जो बैक्टिरिया को कंट्रोल तो कर देते हैं बड़े स्किन को बहुत ड्राय कर देते हैं इसलिए शुरुआत में इन्हें बहुत ही कम अमाउंट में स्किन पर अप्लाई करना चाहिए और हर हफ्ते नया एक्ने ट्रीटमेंट ट्राय करने से भी आपको बचना होगा।

इतना ही नहीं स्किन के साथ साथ आपको अपने बालों का भी खयाल रखना चाहिए। एक्ने से बचाव के लिए आपको अपने बालों का भी खयाल रखना होगा। इसलिए बालों पर जैल खुशबूदार पॉलिस लगाना अवाइड कीजिए क्योंकि अगर आपके बालों से ये आपके पेज पर आएगा तो आपके स्किन पोर्स ब्लॉक हो जाएंगे और स्किन पर इरिटेशन शुरू हो जाएगी। इसी तरह बालों में यूज किए जाने वाले शैंपू और कंडिशनर भी हार्ड ना होकर जेंटल होने चाहिए जो आपके बालों के साथ साथ आपकी स्किन को भी हम ना करें।

अगला स्टेप जो आपको फॉलो करना है वो ये है कि हाथों को पेड़ से दूर रखिए। बार बार हाथों से चेहरे को छूने की आदत कोरोना बैंड में काफी कम। है। अगर आप इसी हैबिट को हमेशा बनाए रखें तो आपके पेज को आसानी से क्लीन रख सकती हैं क्योंकि गंदे हाथों में बहुत से बैक्टीरिया होते हैं जो प्रेशर स्किन पर इरिटेशन और जलन को पैदा करते हैं।

इसके अलावा बार बार पिम्पल्स पर हाथ लगाना उन्हें दबाने और हटाने की कोशिश करना भी आपको बंद करना होगा। साथ ही के दलित कॉन्टैक्ट में आने से भी आपको बचना होगा। सनलाइट हमारे लिए किसी ब्लेसिंग से कम नहीं है लेकिन डायरेक्ट सनलाइट के कॉन्टैक्ट में आने से उसकी अल्ट्रा वायलेट रेज स्किन पर जलन और रेडनेस बढ़ा सकती है।

इसलिए तेज धूप से स्किन का बचाव कीजिए और सनस्क्रीन यूज कीजिए लेकिन अपनी स्किन के अकॉर्डिंग और ऐसे प्रोडक्ट्स खरीदते टाइम उनके इंग्रीडिएंट्स को आप जरूर चेक करें ताकि आपको पता चल सके कि आप अपनी स्किन पर क्या अप्लाई कर रही हैं तो आप अपनी स्किन का ध्यान रख रही हैं तो उसके साथ साथ आपको अपनी डाइट का भी ध्यान रखना होगा।

केवल बाहर से प्रोडक्ट सप्लाई करके स्किन को हेल्दी और एक्ने फ्री नहीं रखा जा सकता। इसलिए अपनी डाइट में ताजे फल वेजिटेबल्स और होल ग्रेन्स को शामिल करना होगा। अगर आपको अपनी का प्रॉब्लम है तो डेरी प्रोडक्ट्स और प्रोसेस्ड शुगर वाले फूड प्रॉडक्ट्स को आपको अवाइड करना है।

इसके अलावा जंक फूड और ऑयली फूड अवॉइड करना भी आपके लिए बहुत ही बेस्ट ऑप्शन है। इसी के साथ कॉस्मेटिक के ज्यादा इस्तेमाल से भी आपको बचना होगा क्योंकि कॉस्मेटिक का ज्यादा इस्तेमाल आपकी स्किन को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है और अगर गलती से ये प्रॉडक्ट्स लो क्वॉलिटी के हैं तो रिस्क और भी ज्यादा बढ़ सकता है।

इसलिए फूड क्वॉलिटी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का लिमिटेड यूज करने की हैबिट बैल कीजिए जैसे मेकअप सनस्क्रीन और स्किन हेयर केयर के प्रोडक्ट्स परचेज करें तो ध्यान रहे कि उन पर लिखा हो नॉन कमांडो जानें यानी ऐसा प्रॉडक्ट जो आपने प्रड्यूस नहीं करता तो ऐसे प्रोडक्ट्स को यूज करने के बावजूद भी बहुत से टीनएजर्स को आदमी की प्रॉब्लम होती है और इसका एक बड़ा रीजन मेकअप ब्रश या मेकअप अपनी ड्रेस को शेयर करना होता है।

ऐसा करने से एक स्किन से बातें या दूसरी स्किन में ट्रांसफर हो जाता है और फिर एक्ने और स्किन की प्रॉब्लम शुरू होने लगती है इसीलिए इस तरह की शेयरिंग से आपको बचना होगा। इसके अलावा ये भी ध्यान रखें कि हमेशा सोने से पहले मेकअप को रिमूव जरूर करें। आज इतना कुछ कर रही हैं तो लगे हाथ एक काम और कीजिए और वो है रोज एक्सरसाइज करना।

एक्सरसाइज से बॉडी फिट रहती है ये तो आप जानती हैं लेकिन एक्सरसाइज स्किन को भी हेल्दी और ग्लोइंग रखती है। एक्सरसाइज के दौरान अपने फेस को क्लीन टॉवल से साफ करती रहें और एक्सरसाइज के थोड़ी देर बाद हो सके तो बाथ ले यानी कि नहा लें तो जरूर वॉश कर लें तो इन सभी से ब्लैकहेड्स को अपनी डेली लाइफ का हिस्सा बनाइए और आप देखेंगे कि आपकी बड़ी सी दिखने वाली प्रॉब्लम जल्द ही छोटी होती जाएगी और इसी के साथ ये लेख  आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं।

कोई और आपके पास कोई और बात शेयर करना चाहते हैं तो वो भी बताइए और किस बारे में आगे जाना चाहते हैं वो भी लिख दीजिए। साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए ऐसे इनोवेटिव और इंटरेस्टिंग लेख के लिए आपको हमारे साथ जुड़े रहना चाहिए |

यह भी पढे :
चेहरे पर मुंहासे हो तो क्या लगाना चाहिए?
चेहरे को अच्छी तरह से धोकर पिंपल्स पर शहद लगाकर मसाज करें. इसके अलावा ग्रीन टी पीने से कील-मुंहासों से राहत मिलती है. खाने में नींबू का इस्तेमाल करें. आप चाहें तो पानी में नींबू निचोड़कर पी सकते हैं और सलाद में भी नींबू निचोड़कर खा सकते हैं.
पिंपल से छुटकारा कैसे पाएं?
पिंपल से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये उपाय
  1. चंदन पाउडर
  2. बाल झड़ने से हैं परेशान तो ऐसे करें अंडे और प्याज के रस का इस्तेमाल, चंद दिनों में दिखेगा असर
  3. बर्फ मुंहासों पर बर्फ को धीरे -धीरे रगड़ें, ध्यान रहे कि आप ज्यादा देर बर्फ का इस्तेमाल ना करें। इससे भी आपको लाभ मिलेगा।
  4. मुल्तानी मिट्टी
  5. एलोवेरा जेल
चेहरे पर पिंपल्स क्यों निकलते हैं?
चेहरे पर पिंपल निकलने की समस्या आमतौर पर टीनएज से जोड़कर देखी जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस उम्र में हमारे शरीर में तेजी से हॉर्मोनल बदलाव हो रहे होते हैं। इस कारण हॉर्मोन्स लेवल डिस्टर्ब होने हमारी स्किन पर पिंपल्स उगने लगते हैं। जो शुरुआत में किसी छोटे दाने या उभार की तरह महसूस होते हैं
मुंहासे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है?
इस आइटम को देखने वाले ग्राहकों ने ये भी देखा
  • Himalaya हर्बल एक्ने और पिम्पल क्रीम, 20g. …
  • Himalaya Acne-N-पिंपल क्रीम – 3 का पैक …
  • Himalaya हर्बल Acne-n-पिंपल क्रीम, 20g (5 का पैक) …
  • Himalaya वेलनेस मुंहासे-एन-पिंपल क्रीम (2 का पैक)
पिंपल्स हटाने के लिए कौन सी क्रीम लगाएं?
अगर पिंपल हटाने की क्रीम की बात करें, तो विको टर्मरिक स्किन केयर क्रीम न सिर्फ औषधीय गुणों से भरपूर है, बल्कि इसे कई वर्षों से उपयोग किया जाता रहा है। इसमें हल्दी है, जो एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है। यह क्रीम घाव, चकत्ते, मुंहासे, दाने और जलन जैसी कई समस्याओं को ठीक करने में मदद कर सकती है।

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *